Jodhpur News latest news

Jodhpur Cylinder Blast विस्फोट के बीच जलता सिलेंडर लेकर भागे कॉन्स्टेबल डूंगर सिंह, बहादुरी के लिए सीएम गहलोत ने दिया यह इनाम

Jodhpur Cylinder Blast: ब्लास्ट के दौरान कॉन्स्टेबल डूंगर सिंह ने जलते हुए सिलेंडरों को बाहर फेंका. इस दौरान उनका हाथ भी जल गया. लेकिन, अगर वह ऐसा न करते तो इससे भी बड़ा हादसा हो सकता था.

Jodhpur Cylinder Blast:  जिले के शेरगढ़ थानान्तर्गत (Police station Shergarh) भुंगरा गांव (Bhungara village gas explosion : five more death) में शादी समारोह में आग लगने के बाद गैस के दो सिलेंडर फटने के मामले में गंभीर घायल दो महिला व तीन बालिकाओं का शुक्रवार को महात्मा गांधी अस्पताल में दम टूट गया। हादसे में अब तक सात जनों की मौत हो चुकी है। 47 जने अभी भी महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सुबह अस्पताल में भर्ती घायलों से मुलाकात की और समुचित उपचार के निर्देश दिए। पुलिस के अनुसार प्रकरण में गंभीर घायल भुंगरा गांव निवासी चन्द्र कंवर (40) पत्नी धनसिंह, धापू (13) पुत्री भंवर कंवर, कंवरू कंवर (40) पत्नी मदनसिंह , धापू 5 पुत्री बाबूसिंह व प्रकाश कंवर 16 पुत्री नरपतसिंह की मृत्यु हुई है। जबकि भुंगरा निवासी खुशबू कंवर (5) पुत्री गणपतसिंह और रतनसिंह (4) पुत्र सांगसिंह की गुरुवार को मौत हो गई थी।

Jodhpur Cylinder Blast

 

सीएम ने 7-7 लाख की घोषणा की

हादसे को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार सुबह विशेष विमान से जोधपुर पहुंचे। वे सीधे महात्मा गांधी अस्पताल पहुंचे, जहां भर्ती हताहतों व परिजन से मिले और ढांढस बंधाया। चिकित्सकों से मुलाकात कर घायलों के इलाज के लिए समुचित निर्देश दिए। सीएम ने मृतक के आश्रितों को चिरंजीवी योजना के तहत 5-5 लाख रुपए और मुख्यमंत्री सहायता कोष से 2-2 लाख रुपए व घायलों को 1-1 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। घायल व परिजन से मिलने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विशेष विमान से जयपुर लौट गए।

भूमरा गांव में जिस जगह सिलेंडर ब्लास्ट हुआ था, वहां एक कॉन्स्टेबल डूंगर सिंह ने अपनी जान की परवाह किए बगैर जलते हुए सिलेंडरों को बाहर फेंका, जिससे उनका हाथ जल गया. सिलेंडर अगर डूंगर सिंह बाहर नहीं फेंकते तो इससे भी बड़ा हादसा हो सकता था.

सीएम गहलोत ने की कॉन्स्टेबल डूंगर सिंह के प्रमोशन की घोषणा

सीएम गहलोत शुक्रवार को महात्मा गांधी अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना और उनसे बात की. पीड़ितों के इलाज के लिए डॉक्टर्स सहित प्रशासन को निर्देश भी दिए. इस दौरान सीएम गहलोत ने कॉन्स्टेबल डूंगर सिंह को बहादुरी का इनाम देते हुए उनके प्रमोशन की घोषणा की है. सीएम गहलोत ने कहा कि भूंगरा गांव के लोगों ने जिस तरह से अपनेपन का संदेश दिया है, बहादुरी का संदेश दिया है, मैं उन सभी का आभार करता हूं.

साथ ही, कांस्टेबल डूंगर सिंह ने जो बहादुरी का काम किया है उन्हें इनाम मिलना जरूरी है. समाज में एक ऐसा संदेश जाना चाहिए कि बहादुरी का काम करने पर उन्हें इनाम मिलता है.

एक के बाद एक फटे पांच सिलेंडर

जानकारी के अनुसार, घटना की सूचना मिलते ही कॉन्स्टेबल डूंगर सिंह मौके पर पहुंच गए. घटनास्थल पर एक के बाद एक करके 5 गैस सिलेंडर फटे थए, जिससे अफरातफरी का माहौल बन गया था. 60 लोग आग में झुलस गए थे, लेकिन डूंगर सिंह ने अपनी जान की परवाह किए बिना ही गैस सिलेंडर को बाहर फेंका. नहीं तो इससे भी भयानक हादसा हो सकता था. क्योंकि शादी समारोह में खाना बनाने के लिए करीब 20 सिलेंडर लाए गए थे.

जोधपुर में शादी के घर में हुए सिलेंडर ब्लास्ट में आज सुबह इलाज के दौरान तीन महिलाओं की मौत हो गई। गुरुवार को हुए इस हादसे में अब तक दो बच्चों सहित कुल 5 लोगों की जान चली गई है, जबकि 40 से ज्यादा लोगों की हालत गंभीर है। सभी का जोधपुर के महात्मा गांधी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।

Leave a Comment